Entertainment

आसानी से फर्राटेदारअंग्रेजी बोलना सीखने का रामबाण तरीका

अंग्रेजी भाषा एक चर्चा का विषय बन गया है क्योंकि यह पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा बोला जाता है। इसलिए ये कई लोगों के चिंता का कारण बन गया है लोग बहुत सारा पैसा और कीमती समय बिताने के बाद भी मुश्किल से ही अंग्रेजी बोल पाते हैं, और रोज बोले जाने वाले अंग्रेजी में भी गलतियाँ करते है अंत में वो निराश होकर सीखना छोड़ देते है। अगर आप अंग्रेजी को लेकर बहुत ही ज्यादा सीरियस हो तो मै आपको गारंटी देता हु की ये ब्लॉग आपको बहुत कुछ सिखाएगा तो चलिए शुरू करते है।

how to learn english

 

1975 में “Stephen  Krashen” जो की एक language researcher है ने बताया की भाषा को सीखने के लिए “Comprehensible input” की जरूरत होती है अब आप ये सोच रहे होंगे की ये क्या होता है। 

spoken english

“Comprehensible input” का मतलब है की एक ऐसा Input जो समझने में आसान हो और दिमाग को आसानी से समझ आ जाये। Krashen का कहना है की दुनिया में आज तक किसी ने भी Comprehensible input के बिना भाषा को नहीं सीखा है  कहने का मतलब है अगर आप input समझोगे ही नहीं तो सिख नहीं पाओगे। उन्होंने ये भी कहा है की input मजेदार होना चाहिए यानी entertaining होना चाहिए तभी आपका मन लगेगा सिखने में। चलिए अब बात करते है अंग्रेजी सिखने की। 

ये कुछ तरीके है जिन पर आपको धयान देना होगा, और फिर आप आसनी से अंग्रेजी बोलना सीख जायेंगे 

  1. Listening (सुनना)
  2. Reading(पढ़ना)
  3. Speaking(बोलना)

चलिए अब थोड़ा विस्तार में जाने कि कैसे ये तरीका काम करेगा और हमे इसके लिए क्या करना होगा 

LISTENING – सुनना 

ये first step है पर इसको जानने से पहले मेरा आप से एक सवाल है : छोटे बच्चे  बोलना कैसे सीखते है ?

आसानी से फर्राटेदारअंग्रेजी बोलना सीखने का रामबाण तरीका 1

चलिए मै ही बता देता हूँ की वो कैसे सीखते है सबसे पहले वो सुनते है क्योंकि छोटे बच्चो को न तो पढ़ना आता है और न लिखना ,और सबसे बड़ी बात उनको “Grammar ” का तो पता ही नहीं होता। पर इसके बावजूद भी वो बोलना सीख जाते है क्योकि हम उनसे बार बार बोलते रहते है और वो हमे गौर से सुनते रहते है और जब उन्हें समझ नहीं आता तो हम उन्हें कर के दिखाते है और फिर वो आसानी से समझ जाते है। यानि कहने का मतलब ये है की जब हम बार-बार एक Input सुनते हैं, तो हम ध्यान से observe करना शुरू कर देते हैं और धीरे-धीरे नकल करना शुरू करते हैं, शुरू में हम सही ढंग से नहीं बोलते हैं और हम अच्छी तरह से Pronounce नहीं करते हैं। लेकिन धीरे धीरे हम अपनी गलती को सुधारते हैं। और जल्द ही बोलना शुरू कर देते है।

तो हमने ये सीखा की हमे चार Steps में काम करना है।

  • Observe
  • Imitate
  • Interact
  • Practice
  • अब Question ये होगा की

सुनना क्या है  ?

कुछ ऐसा सुनें जो आपके Level के अनुसार हो। अपने Level से आगे नहीं जाना है । आप कुछ Interesting English videos देख सकते है जो आपको पसंद हो क्योकि वीडियोस काफी Entertaining होते है और देखने में मजा भी आता है हालांकि शुरू में सब कुछ समझ नहीं आएगा पर घबराये नहीं बस देखते जाये।

how to speak english

 

कार्टून देखे

जैसा कि मैंने पहले कहा, Input Interesting होना चाहिए। कार्टून मज़ेदार और दिमाग को समझ में आने लायक होते हैं, और आज कल YouTube पर आसानी से मिल भी जाते हैं। यदि आपको अभी भी यह मुश्किल लगता है, तो आप Subtitle के साथ कार्टून देख सकते हैं। और एक वीडियो को बार बार देखे इससे आपको Words जल्दी याद होंगे।

how to speak english

 

आपने टीचर को ध्यान से सुने 

how-to-speak-english

 

मैंने बहुत से students को बस लिखते हुए देखा है और जब टीचर बोलता है तो वो लिखते रहते है पर हमे ऐसा नहीं करना है हमें हमेशा टीचर को ध्यान से सुनना चाहिए क्योंकि वो हमारे Level के अनुसार बोलते हैं। वो इशारों और बॉडी language का उपयोग करते हैं और साथ ही हमें चीजों को समझाने के लिए उदाहरण भी देते हैं। इसलिए टीचर को सुनना बहुत जरूरी है।

अंग्रेजी के आसान Audios सुने

how to speak english listening

 

इंटरनेट पर बहुत से आसान audios है जो की आसानी से available है आपको ये audios बार बार ध्यान से सुनना है हालांकि आप थोड़ा bore फील कर सकते हो पर सीखने के लिए इतना तो करना ही पड़ता है और अगर आप को कोई मुश्किल Word मिलता है तो आप Dictionary का प्रयोग भी कर सकते है और फिर उस audio को Repeat कर के सुने।

नोट: – कोशिश करे की आप कुछ ऐसे Audios सुने या ऐसे Videos देखे जो कम से कम 60% समझ आ जाये अगर आपको इतना समझ न आये तो दुसरा सुने क्योंकि वो आपके लेवल से ऊपर है और उसका कोई फायदा नहीं होगा।

READING – पढ़ना 

how to speak english

Stephen krashen के अनुसार पढ़ना  बहुत important है ये आपके इंगलिश को बहुत तरीको से बढाता है।

Reading आपके Word Power को बढ़ाता है ।

how to speak english

 

शुरुआत में आप के पास Word Power नहीं होता और आप सही से नहीं बोल पाते पर जब आप रोज कुछ न कुछ पढ़ने लगते है तो आपको बहुत से words मिल जाते है और आपको अलग से याद नहीं करना पड़ता इसलिए reading बहुत जरूरी है। 

 

Reading आपके Grammar को भी सही करता है 

how to speak english

 

जब हम नियमित रूप से पढ़ते हैं तो हम अपने Grammar में भी सुधार करते हैं। आप यह सुनकर दंग रह जाएंगे की “यदि आप रोज़ पढ़ते हैं और इसे अपनी आदत बनाते हैं, तो आपको Grammar और structures सीखने की ज़रूरत नहीं है”। क्योंकी पढ़ते वक़्त आपको बहुत से Grammar अपने आप समझ आ जाते है।

Reading से हमारी स्पेलिंग mistake भी सही होती है

बहुत से लोग Spelling mistakes ज्यादा करते है पर अगर वो हर रोज कुछ न कुछ पढ़ने लग जाये तो गलतियां कर करते है क्योंकि पढ़ते वक़्त words बार बार Repeat होते है।

how to speak english

 

पढ़ना क्या है?

कभी कभी हमे पता ही नहीं होता की पढ़ना क्या है इसके लिए Krashen का कहना है की कुछ ऐसा पढ़े जो बहुत ही इंटरेस्टिंग हो यानि आप पढ़ने में इतना खो जाये की आपको mistakes की चिंता ही न हो और आपका पूरा ध्यान बस कहानी को समझने में लगा हो। अगर आप रोज ऐसा कुछ पढ़ने लग जाते हो तो आप कम दिनों में ही अंग्रेजी बोलने लग जाओगे। और आप कुछ भी पढ़े पर ध्यान रहे अपने level के अनुसार ही पढ़े तभी उसका फायदा होगा।

Comic Books से स्टार्ट करना ज्यादा अच्छा रहेगा 

how to speak english

Comic books में बहुत से चित्र होते है जो की बहुत ही interesting होते और आपका ध्यान भी आकर्षित करते है और सबसे अच्छी बात है की ये समझने में भी आसान होता है और आसानी से इंटरनेट पर उप्लबध भी होता है। 

Story Books

how to speak english

बाजार में बहुत सारी कहानी की किताबें उपलब्ध हैं। आप को जो पसंद हो पढ़ सकते हो उदाहरण के लिए, यदि आपको love stories पसंद हैं तो love stories की पुस्तक खरीदें अगर आपको कोई horror books है तो आप वो खारिदे। सब आपके interest की बात है।

Note:-  Make sure you read anything that is your level and make use of the dictionary in case you don’t know the meaning of some words. Repeat the same story at least thrice. Once you start getting 100% out of that story. Then it’s time to grab another one.

SPEAKING – बोलना 

how to speak english

यह लोगों का पसंदीदा है क्योंकि वो सोचते हैं कि यदि वो अधिक से अधिक बोलते हैं तो वे जल्द ही अंग्रेजी सीख जायेंगे । दुर्भाग्य से, यह सच नहीं है …

लोग सोचते है की सबसे पहले बोलना ही चाहिए पर krashen के अनुसार” SPEAKING IS A RESULT OF LISTENING AND READING” इसका मतलब है की सबसे पहले हमे सुनने और पढ़ने पर ज्यादा ध्यान देना होगा फिर हम बोलना आसानी से सिख जायेंगे। 

 

Tags
Show More

Abhishek Pandey

Hi, This is Abhishek Pandey. I am a hardcore blogger by Passion, Love writing SEO friendly Articles. Apart from that I am a Youtuber and Adore Editing Videos. I love designing the website and promoting it as well.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close